Breaking News
Home / Uncategorized / कहां हैं CM शिवराज, PM मोदी को चिट्ठी लिखकर किसान ने कर ली आत्महत्या

कहां हैं CM शिवराज, PM मोदी को चिट्ठी लिखकर किसान ने कर ली आत्महत्या

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भले ही खुद को किसान प्रिय नेता बताते न थकते हों लेकिन सच तो यह है कि खुशहाली का दूर दूर तक किसानों से कोई नाता है ही नहीं, क्योंकि कर्ज में डूबे किसान ने प्रदेश में एक बार फिर खुदकुशी कर ली है, पहले तो उसने प्रधानमंत्री कार्यालय से इच्छामृत्यु की गुहार लगाई और फिर साहूकारों के कर्ज़ और प्रताड़ना का वीडियो बना कर जान दे दी. अब सवाल कई हैं लेकिन जवाब वेदना संवेदना के आगे नहीं मिलता?

दरअसल, मनासा विकासखंड के अल्हेड़ गांव में रहने वाले 34 वर्षीय किसान विनोद पाटीदार बेहोशी की हालत में खेत में पड़ा मिला. परिजन उसे तुरंत नजदीक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे. हालत नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया. वहां भी हालत में सुधार नहीं हुआ तो परिजन बेहतर इलाज के लिए अहमदाबाद रवाना हुए, लेकिन रास्ते में ही विनोद ने दम तोड़ दिया.

अंतिम संस्कार के पहले परिजनों ने विनोद का मोबाइल फोन देखा तो उसमें वीडियो नजर आया. यह वीडियो खुदकुशी करने के पहले का बताया जा रहा है. इस वीडियो में किसान ने पांच साहूकारों के नाम लेते हुए कहा कि कर्ज की रकम लौटाने के बावजूद ये साहूकार उसे प्रताड़ित कर रह ज्यादा रकम की डिमांड कर रहे हैं. उसके ट्रैक्‍टर और जमीन पर भी साहूकारों के कब्जा करने का जिक्र वीडियो में किया गया है.

तमाम कोशिशों के बावजूद जब किसान के पास कोई रास्ता नहीं सूझा तो उसने परेशान होकर 4 जनवरी को किसान विनोद पाटीदार ने एक शिकायत पीएमओ दिल्‍ली को भी भेजी, जिसमें उसने पीएमओ से इच्‍छा मृत्‍यु की इजाज़त मांगी थी. अब जब खुदकुशी से जुड़े कई पहलू सामने आए तो अफ़सरों की ज़ुबान पर तालाबंदी हो गई, अब वह दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का रट्टा लगाए हुये हैं. लेकिन सवाल यही कि आखिरकार एक किसान को पीएमओ को ख़त लिखने के बाद भी आत्महत्या क्यों करनी पड़ी, अफ़सर से लेकर प्रशासन ने समय रहते अगर समस्या को सुलझा दिया होता तो यह नौबत नहीं आती साहब, एक किसान ने फिर आत्महत्या कर ली और आप की सरकार मूक दर्शक बन कर देखती रही…

About sub admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares