Home / नेशनल / नहीं रहे दिग्गज अभिनेता ओम पुरी, आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन

नहीं रहे दिग्गज अभिनेता ओम पुरी, आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन

नहीं रहे दिग्गज अभिनेता ओम पुरी,आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन 

मुंबई:भारतीय सिनेमा जगत के दिग्गज अभिनेता ओम पुरी का दिल का दौरा पड़ने से शुक्रवार प्रातः निधन हो गया है. ओम पुरी 66 साल के थे. ओम पुरी ने सिर्फ बॉलीवुड ही नहीं, बल्कि कई, पाकिस्तानी, ब्रिटिश और हॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया. उनकी गिनती दक्षिण एशिया के बेहतरीन अभिनेताओं में होती रही. पुरी के निधन की खबर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया है. पीएमओ ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी ने पुरी के नि धन पर शोक जताया है और उनके थियेटर और फिल्मों को याद किया.

सदमे में सिने जगत

ओम पुरी के निधन की खबर से पूरा बॉलीवुड सदमे में है. उनके निधन पर साइन जगत के दिग्गजों ने दुःख जताया है. उनकी मौत पर डायरेक्टर डेविड धवन ने आज तक को बताया कि फोन पर सूचना मिली. यह दुखद है और सभी सदमे में हैं. उन्हें कभी वो सम्मान नहीं मिला जिसके वो हकदार हैं. वह कई यादगार किरदार निभा चुके हैं. शबाना आजमी ने कहा – उनके घर जा रही हूं और ये दुखद है. कई साल की दोस्ती है और ओम पुरी का यूं अचानक चले जाना बहुत चुभ रहा है. मैं अभी कुछ कहने की स्थिति में नहीं हूं. एक साल से उनसे बस फोन पर ही बातचीत होती थी. अभी उनके घर जा रही हूं. वहीँ मधुर भंडारकर ने कहा है कि ‘यकीन नहीं हो रहा है कि ऐसा हुआ है. उन्होंने इंटरनेशनल लेवल अपना अपने अभिनय का कमाल दिखाया है. मुझे ये खबर सुनकर बहुत दुख हुआ है.

अभावों में बीता था बचपन

ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1950 को अंबाला, हरियाणा की एक पंजाबी परिवार में हुआ था. उनके पिता रेलवे में नौकरी करते थे. परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए उन्हें एक ढाबे में नौकरी तक करनी पड़ी थी. लेकिन कुछ दिन बाद ढाबे के मालिक ने उन्हें चोरी का आरोप लगाकर हटा दिया.बचपन में ओमपुरी जिस मकान में रहते थे उससे पीछे एक रेलवे यार्ड था. रात के समय ओमपुरी अक्सर घर से भागकर रेलवे यार्ड में जाकर किसी ट्रेन में सोने चले जाते थे. उन दिनों उन्हें ट्रेन से काफी लगाव था और वह बड़े होने पर वह रेलवे ड्राइवर बनना चाहते थे. सन 1993 में ओम पुरी की शादी नंदिता पुरी से हुई थी लेकिन 2013 में ये दोनों अलग हो गए थे. ओम पुरी का एक बेटा है जिसका नाम इशान है.

अभिनय यात्रा की शुरुआत

ओम पुरी ने पुणे के फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया में कोर्स किया और फिर फिल्मी दुनिया में आ गए. बाद में ओमपुरी ने अपने निजी थिएटर ग्रुप ‘मजमा’ की स्थापना की. ओमपुरी के एक्टिंग करियर की शुरुआत वर्ष 1976 में आई मराठी फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से हुई. मराठी नाटक पर बनी इस फिल्म में ओमपुरी ने घासीराम का किरदार निभाया था.इसके बाद ओमपुरी ने गोधूलि, भूमिका, भूख, शायद, सांच को आंच नहीं जैसी कला फिल्मों में अभिनय किया लेकिन इससे उन्हें कोई खास फायदा नहीं पहुंचा.

फिल्म आक्रोश से मिली पहचान

ओम पुरी को फिल्मों में पहचान मिली 1980 में आई फिल्म ‘आक्रोश’से जिसे आलोचकों ने खूब सराहा. उनकी कई उम्दा फिल्में है जो उनके बेहतरीन अभिनय को दर्शाती हैं वे एक बेहतरीन एक्टर थे ये कहने की ज़रूरत तो नहीं हैं. पिछले कुछ सालों में भी ओम पुरी कई हिट फिल्मों में नज़र आए है. उन्होंने साल 2015 में फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ में मौलाना साहब का रोल किया था. ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त हिट हुई थी. अर्द्ध सत्य’, ‘जाने भी दो यारों’, ‘नसूर’, ‘मेरे बाप पहले आप’, ‘देहली 6’, ‘मालामाल वीकली’, ‘डॉन’, ‘रंग दे बसंती’, ‘दीवाने हुए पागल’, ‘क्यूँ ! हो गया ना’, ‘काश आप हमारे होते’ और ‘प्यार दीवाना होता है’ जैसी सैकड़ों फिल्मों में नज़र आ चुके हैं.

#ompuri #RIP #bollywood #HNN24x7

About Website Admin

Check Also

उत्तराखंड के सीएम ने किया आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

Share on FacebookShare on Twitter उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मंगलवार को उत्तरकाशी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares