Breaking News
Home / बिहार / चमकी बुखार का कहर अब भी जारी

चमकी बुखार का कहर अब भी जारी

मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। भीषण गर्मी के साथ ही मरीजों के मरने की संख्या लगातार बढ़ रही है। मुजफ्फरपुर में अब तक इस बीमारी से 129 बच्चों की मौत हो चुकी है और 300 अब भी गंभीर रूप से बीमार हैं। वहीं बिना इलाज के मरे बच्चों का अभी आकलन नहीं किया गया है। चिंताजनक बात यह है कि मरने वाले या गंभीर रूप से बीमार बच्चों में 80 फीसदी बच्चियां हैं। आंकड़ों के मुताबिक 129 मौतों में 85 बच्चियां शामिल हैं। इससे इलाके में कुपोषण की भयावह स्थिति का भी पता चलता है। कुपोषण का शिकार सबसे अधिक बच्चियां होती हैं आयरन की कमी से इसका खतरा बढ़ता है। यह एक बड़ी समस्या है जिसे नजरअंदाज किया जाता रहा है।

2014 में देश में इस बीमारी से प्रभावित 60 जिलों की पहचान की गई और यहां सघन अभियान चलाने की बात की गई थी। इसमें पांच मंत्रालयों की एक कमिटी बनाई गई थी। इसमें स्वास्थ्य मंत्रालय के अलावा स्वच्छता और पेयजल मंत्रालय, सामाजिक कल्याण मंत्रालय, महिला और बाल विकास और शहरी विकास मंत्रालय भी शामिल हैं। कमिटी के गठन के बाद एक भी मीटिंग नहीं हुई। अब एक बार फिर स्वास्थ्य मंत्रालय ने पुराने प्रस्ताव पर काम करने की बात कही है। इस प्रकरण में बिहार के सीएम नीतीश कुमार को गंभीर सवालों का सामना करना पड़ रहा है। दो वर्षों के दौरान जब उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में इस बीमारी पर बहुत हद तक नियंत्रण हुआ तो फिर उनके राज्य में कहां कमी रह गई। यही कारण है कि आलोचनाओं के बीच नीतीश मुजफ्फरपुर पहुंचे। अस्पताल में नीतीश के दौरे के दौरान बाहर लोगों ने जमकर विरोध किया और ‘नीतीश वापस जाओ’ के नारे लगाए। बच्चों की मौत से बौखलाए परिजन नीतीश मुर्दाबाद और हाय-हाय के नारे लगाते रहे।

About sub admin

Check Also

कश्मीर मुद्दा होगा हल, नहीं रोक सकती कोई ताकत : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि कश्मीर मुद्दा हल हो जाएगा और ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *