Breaking News
Home / kanpur / 5 सालों में भी नहीं बदला गांव का नसीब

5 सालों में भी नहीं बदला गांव का नसीब

उत्तर प्रदेश के कानपुर के सिंहपुर गांव की तस्वीर बदलने की जिम्मेदारी बीजेपी के पूर्व सांसद डॉ मुरली मनोहर ने ली थी। लेकिन 5 साल बाद न वो सांसद रहे और ना ही विकास हो पाया। ये गांव शहर जैसा ही लगता है। गांव के लोगों की आर्थिक स्थिति ठीक है। जिसको देखकर लगता है कि कोई समस्या नहीं है।

सिंहपुर की चमक-धमक के पीछे की असलियत कुछ और है। सरकार की ओर जनहित में योजनाएं चलाई जाती हैं। जिसमें योजना के तहत हर गांव में शौचालय की व्यवस्था के लिए इनका निर्माण करवाया जाने थे। लेकिन शौचालय के नाम पर चार दिवार खड़ी कर दी गई हैं। एक कमरे में कूड़ा-कबाड़ औऱ दूसरे में ताला लगा रहता है। पूरे गांव के लोग बाहर खुले में शौच के लिए जाते हैं। गांव में जिससे हर जगह गंदगी ही गंदगी नजर आती है। गांव में एक तालाब है जिसमें गंदा पानी भरा हुआ है। लेकिन लोग उसी पानी का इस्तेमाल करने को मजबूर हैं।  प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से इस विषय पर पूछा गया तो वे सवालों से बचते रहे।

 

इस गांव की सबसे बड़ी परेशानी और जरूरत पानी है। जो 5 साल सांसद के रहते हुए भी पूरी नहीं हो पाई है। लोगों को गंदे तालाब के पानी का ही उपयोग करना पड़ रहा है। जिस ओर प्रशासन और सरकार ध्यान नहीं दे रही है।

About sub admin

Check Also

महात्मा गांधी के 150 वें जन्मदिन पर बीजेपी निकालेगी ‘गांधी संकल्प यात्रा’

Share on FacebookShare on Twitter इस बार 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी का 150वॉ जन्मदिन ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares