Breaking News
Home / उत्तराखंड / आखिर कब होगी पूरी स्कूल में शिक्षकों की कमी ?

आखिर कब होगी पूरी स्कूल में शिक्षकों की कमी ?

उत्तराखंड चमोली जिले के थराली विकासखंड का आदर्श राजकीय इंटर कॉलेज साल 1918 में बने जूनियर हाईस्कूल का 1973 में हाई स्कूल में उच्चीकरण हुआ। साल 1976 में इसे इंटरमीडिएट बनाया गया। स्कूल की कक्षाओं में तरक्की होने के पीठे बेहतर शिक्षा का स्तर और पढ़ने वाले छात्र-छात्रों की संख्या थी। लेकिन पिछल कुछ सालों में छात्रों की संख्या जो लगभग 500 थी। अब वो महज 200 से 250 रह गई है। जिसके पीछे की सबसे बड़ी वजह यहां शिक्षकों की कमी है।

बता दें कि राजकीय इंटर कॉलेज को 2015-16 मे आदर्श विद्यालय बनाया था। लेकिन अब हैरान करने वाला आलम है कि वर्तमान में यहां 11 प्रवक्ताओं में से 4 ही प्रवक्ता पढ़ा रहे हैं। बाकियों के पद खाली पड़े हैं। 13 सालों से अर्थशास्त्र जैसे महत्वपूर्ण विषय को कोई शिक्षक नहीं है, और ना ही खाली पदों पर नियुक्ति हुई है। साथ ही गणित और संस्कृत 3 सालों से,इतिहास 4 सालों से, और हिंदी में शिक्षक का पद 1 साल से खाली हैं। विद्यालय शिक्षकों की कमी से जूझ रहा है।

जिसका नतीजा है छात्रों की घटती संख्या थराली ब्लाक प्रमुख राकेश जोशी ने बताया कि उनके द्वारा मुख्यमंत्री के संज्ञान में मामला लाया गया है। जिस पर शिक्षा निदेशक ने जल्द ही विद्यालय में शिक्षकों के पद भरे जाने के आश्वासन दिया है।

शिक्षकों की कमी के बावजूद भी यहां के छात्रों और मौजूदा शिक्षकों की मेहनत का ही असर है कि इस साल 10वीं में बोर्ड रिजल्ट 80 प्रतिशत से ऊपर और इंटरमीडिएट मे बोर्ड रिजल्ट 90 प्रतिशत से ऊपर रहा है। अगर सरकार और अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं देते तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि ऐसे संस्थान के बंद होने से राज्य के लिए कितनी बड़ी क्षति होगी।

 

 

 

About sub admin

Check Also

देहरादून में जगह-जगह मनाया जा रहा सेवा सप्ताह

Share on FacebookShare on Twitter कल 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्म दिवस ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares